Delhi News : Political Tussle Continues Between Aap And Bjp – Mcd Elections : सियासी साजिशों पर हंगामा, षड्यंत्र के आरोप की चुनाव आयोग से शिकायत, वार-पलटवार

दिल्ली नगर निगम चुनाव के बीच शुक्रवार दिनभर सियासी साजिशों पर आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच तल्खी दिखी। आप ने भाजपा पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हत्या कराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत दिल्ली राज्य चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को दी है, जबकि भाजपा ने आप नेता संदीप भारद्वाज की आत्महत्या को हत्या करार देते हुए इसे टिकट  की खरीद-फरोख्त का नतीजा बताया है। भाजपा ने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। 

आप ने मनोज तिवारी के खिलाफ राज्य चुनाव आयोग व पुलिस को दी शिकायत
भाजपा और सांसद मनोज तिवारी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हत्या कराने का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली राज्य चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को शिकायत दी है। आप की मांग है कि भाजपा सांसद को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जाए, ताकि पूरी साजिश का पता चल सके। 

इससे पहले शुक्रवार सुबह उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मीडिया के सामने एक बार फिर भाजपा पर हमलावर दिखे। सिसोदिया के मुताबिक, गुजरात और दिल्ली एमसीडी चुनावों में हार के डर से भाजपा इतना बौखला गई है कि अब वह केजरीवाल की हत्या की साजिश रच रही है। भाजपा के इस षड्यंत्र से साफ है कि उनका लोकतंत्र से भरोसा उठ गया है। साथ ही, चुनाव जीतने के लिए वह किसी भी स्तर पर जा सकते हैं, तभी भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने खुलेआम केजरीवाल को हत्या की धमकी दी है। सिसोदिया ने मांग की कि मनोज को गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई की जाए। पूछताछ से ही पूरे षडयंत्र का पता चलेगा।

  • सिसोदिया ने सवाल किया कि तिवारी को कैसे पता चला कि केजरीवाल पर हमला हो सकता है। इसका मतलब साफ है कि इन लोगों ने साजिश रच ली है।  
  • इसके बाद दोपहर करीब 12:30 बजे आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज की अगुवाई में पांच विधायकों का प्रतिनिधिमंडल राज्य चुनाव आयुक्त विजय देव से मिलने दफ्तर पहुंचा। 
  • आप प्रतिनिधियों ने आयुक्त को मनोज तिवारी के खिलाफ शिकायत दी। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने राज्य चुनाव आयुक्त को सिलसिलेवार ढंग से पूरे मामले की जानकारी दी। उनको बताया गया कि भाजपा के सांसद मीडिया में अरविंद केजरीवाल की हत्या की साजिश की बात कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पर पहले भी हमले हुए हैं। पूरी बात सुनने के बाद चुनाव आयुक्त ने मामले को संजीदा बताते हुए जांच का भरोसा दिलाया।

आत्महत्या नहीं, संदीप की हुई हत्या उच्चस्तरीय जांच हो : मनोज तिवारी
भाजपा ने आम आदमी पार्टी (आप) नेता संदीप भारद्वाज की आत्महत्या को हत्या करार दिया है। भाजपा का आरोप है कि आप ने पहले संदीप भारद्वाज को टिकट देने का प्रलोभन दिया, लेकिन मौका आने पर दरकिनार कर दिया। भाजपा की मांग है कि पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए। इसके बाद ही पूरे मामले का पता चलेगा। भाजपा ने एक बार फिर दोहराया है कि जिस तरह आप नेता आत्महत्या करने जैसा कदम उठा सकते हैं, उसमें मुख्यमंत्री की सुरक्षा में कोई ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए। आशंका इसकी भी है कि आप का कोई कार्यकर्ता ही उन पर हमला कर दे। शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि आप नेता संदीप भारद्वाज ने आत्महत्या नहीं की, बल्कि उनकी हत्या हुई है। अभी तक पूरे घटनाक्रम पर सामने आई जानकारियां इसी तरफ इशारा करती हैं। 

  • संदीप भारद्वाज को आप की ओर से निगम चुनाव के लिए टिकट देने का भरोसा दिया जा चुका था। वह आप के फाउंडर मेंबर में से एक थे, लेकिन बाद में टिकट नहीं दिया गया। 
  • आरोप लग रहा है कि जब टिकट देने की बात आई तो उस वार्ड से टिकट की खरीद-फरोख्त की गई। संदीप इसे सहन नहीं कर पाए और सदमे में उन्होंने आत्महत्या कर ली।
  • मनोज तिवारी के मुताबिक, आत्महत्या के लिए मजबूर करना भी हत्या के बराबर ही होता है। इसके जिम्मेदार खुद अरविंद केजरीवाल और आप का पूरा शीर्ष नेतृत्व है। 
  •  पहले भी इसी तरह के मामले में आप कार्यकर्ताओं द्वारा अपने विधायक को पीटते हुए वीडियो वायरल हुआ था। भाजपा सांसद ने मांग की कि पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। इसके बाद ही सही से पता चल सकेगा।
40 क्षेत्रों में मैजिक, गिटार, डांस शो आदि गतिविधियां कीं
एमसीडी चुनाव प्रचार के तहत आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारकों ने 150 से ज्यादा इलाकों में जनसंवाद, नुक्कड़ सभाएं और बज गतिविधियां आयोजित कीं। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय, राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता, आप नेता हरजोत बैंस, विधायक सौरभ भारद्वाज, दुर्गेश पाठक समेत कई नेताओं ने मतदाताओं को साधने का कार्य किया। वहीं, आप ने 40 क्षेत्रों में मैजिक, गिटार, डांस शो आदि बज गतिविधियां कर एमसीडी में केजरीवाल सरकार के आने पर एमसीडी का भविष्य उज्जवल होने का संदेश दिया। 

सिसोदिया ने मादीपुर, शकूरबस्ती और जनकपुरी के आठ वार्डों में सभाएं की। इस मौके पर उन्होंने जनता से अपील की कि इस बार एमसीडी में भाजपा की नाकामी और कुशासन का अंत करने के लिए आप को वोट दें। भाजपा ने 15 सालों से एमसीडी के शासन में रहते हुए जनता से वसूली करने, जनता को धोखा देने और दिल्ली को कूड़ाघर बनाने के अलावा और कुछ नहीं किया। भाजपा से 15 सालों में न तो दिल्ली का कूड़ा साफ हुआ और न ही ये कूड़े के पहाड़ों को साफ कर सके। इसके अलावा भाजपा दिल्ली में 16 कूड़े के नए पहाड़ बनाकर लोगों की जिंदगी नर्क बनाने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि जनता इस बार एमसीडी में लोगों की जेब साफ करने वाली भाजपा को नहीं, बल्कि दिल्ली को साफ सुथरा बनाने वाली आप की सरकार को चुनेगी।

पूर्व विधायक ने प्रचार के दौरान एसआई से की धक्कामुक्की
पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता आसिफ मोहम्मद खान एक फिर विवादों में हैं। वह चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली पुलिस के सब-इंस्पेक्टर (एसआई) अक्षय को धक्का देते हुए दिखाई दे रहे हैं। पूर्व विधायक का एसआई से धक्कामुक्की व जान से मारने की धमकी देते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में विधायक के समर्थक एसआई के साथ नोकझोंक करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

एसआई व सिपाही ने सूझबूझ का परिचय दिया और मौके से चले गए। वहीं, दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। वीडियो दो मिनट पांच सेकंड का है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि आसिफ हाथ में माइक लेकर एमसीडी चुनाव के लिए प्रचार कर रहे हैं। वहां पर एसआई व सिपाही खड़े दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान वह अपने भाषण के दौरान बिहार से आए लोगों के साथ मारपीट का मुद्दा उठाते हुए आपत्तिजनक बातें कहने लगे। इस पर उन्हें एसआई ने रोका तो वह भड़क गए। एसआई अक्षय ने शाहीन बाग थाना में पूर्व विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। 

आमने-सामने हैं आप के गोपाल राय और कांग्रेस के अनिल कुमार

गोपाल ने कहा- भाजपा झूठी, कांग्रेस की सियासी साख नहीं
प्रचार के आखिरी दौर में पहुंचने के साथ आप पर सियासी हमले तेज हैं। क्या रणनीति होगी इससे निकलने की? 

भाजपा समझ चुकी है कि निगम में आप की सरकार बन रही है। वह इस सच को पचा नहीं पा रहे हैं, तभी लोगों को गुमराह करने के लिए नए-नए झूठ परोस रहे हैं। दिल्लीवालों को भाजपा के वीडियो से कोई लेना देना नहीं, वह केवल अपना काम देखते हैं। जनता जानती है कि उनके काम कौन करवा सकता है। मंत्री सत्येंद्र जैन के वीडियो से आप को चुनाव में कोई नुकसान नहीं होगा। 

आप के संदीप भारद्वाज की आत्महत्या की जांच की मांग भाजपा कर रही है? 
भाजपा के पास चुनाव में कोई मुद्दा नहीं बचा है। पिछले 15 साल के कार्यकाल में वह एक उपलब्धि नहीं बता पा रहे हैं तो अब मौत पर भी राजनीति शुरू कर दी। भाजपा चुनाव को लेकर पुरी तरह से हताश हो चुकी है। उनके नेता मुख्यमंत्री को मारने की धमकी दे रहे हैं। आप के टिकट के लिए ढाई हजार आवेदन आए थे, ऐसे में सभी को टिकट देना संभव नहीं था, यह कार्यकर्ता भी जानते हैं। वें कुछ दिन नाराज जरूर हुए होंगे, लेकिन अब मिलकर प्रचार कर रहे हैं। 

चुनाव में एक हफ्ता बचा है, समझा लेंगे लोगों को? 
हां, आप अपने मुद्दों के साथ जनता के बीच जा रही है। भाजपा के झूठ से न आप को मतलब है, न ही जनता को। हम चौराहे पर संवाद, डोर टू डोर कैंपेन, बूथ संवाद, नुक्कड़ नाटक और डांस ऑफ डेमोक्रेसी के माध्यम से अपनी बात लोगों तक पहुंचा रहे हैं। दिल्ली सरकार के कामों को देखकर लोग समझ भी रहे हैं कि निगम में ही आप की सरकार होनी चाहिए। अगले सप्ताह मुख्यमंत्री भी चुनावी अभियान में शामिल होंगे। 

आप ने पिछले निगम चुनाव में जो वादे किए थे, इस बार कांग्रेस के घोषणा पत्र  में वें शामिल हैं। क्या इससे पार्टी को नुकसान नहीं होगा?
दिल्ली की जनता भाजपा को हराने के लिए वोट करेगी। वह जानती है कि भाजपा को केवल आप ही हरा सकती है। ऐसे में कांग्रेस का कोई सवाल ही नहीं उठता। इस बार चुनाव में आमने-सामने की लड़ाई है। इसमें कांग्रेस कही टिक भी नहीं पाएगी। कांग्रेस के कोई भी वादे आप के लिए मुश्किल खड़ा नहीं कर सकते। आप अपने सकारात्मक प्रचार पर पूरी तरह से फोकस है।
 
आप का दावा है कि एक तारीख को कर्मचारियों को वेतन दे देंगे, फंड के अभाव में यह कैसे संभव होगा? 
आप सरकार जब सत्ता में आई थी तो दिल्ली का बजट 30 हजार करोड़ का था। आज 65 हजार करोड़ का है। यदि नियत साफ हो फंड की भी व्यवस्था हो जाती है। पार्टी भ्रष्टाचार को खत्म कर फंड की व्यवस्था करेगी। निगम में सही से प्रबंधन कर निगम की आर्थिक समस्या को पूरी तरह से दूर कर देंगे। 

बोले  अनिल कुमार- आप व भाजपा को दिल्ली वाले समझ गए
एमसीडी चुनाव में दिल्ली में बदलाव की क्या है तैयारी? 

कांग्रेस ने एमसीडी यानी मेरी चमकती दिल्ली बनाने का नारा दिया है। स्वच्छता के साथ-साथ दिल्ली वासियों को पीने का स्वच्छ पानी मुहैया करवाएंगे। दिल्ली को प्रदूषण और भ्रष्टाचार मुक्त बनाएंगे। कोरोना काल में कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर रहे और दिल्लीवासियों की परेशानियों को दूर करने के भरसक प्रयास भी किए। 4 दिसंबर को जनता की अदालत में इसका फैसला होगा। 

एमसीडी चुनाव में पार्टी की क्या प्राथमिकताएं हैं? 
दिल्ली को भ्रष्टाचार और प्रदूषण मुक्त बनाएंगे। 15 वर्षों में भाजपा और आठ वर्षों के दौरान आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को बदहाल कर दिया। गंदे पानी की समस्या को दूर करने के लिए लोगों को वाटर प्यूरीफायर (आरओ) दिए जाएंगे। हाउस टैक्स में राहत देेकर सभी वर्गों को इसमें शामिल करने का हमने खाका खींच लिया गया है। सत्ता मिलने पर इसे लागू कर शीला दीक्षित के शासनकाल की तर्ज पर बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। 

निगम पर कर्ज है, अगर कांग्रेस को मौका मिला तो कैसे वित्तीय स्थिति सुधारेंगे? 
मौका मिलने पर सबसे पहले दिल्लीवासियों को हाउस टैक्स में राहत देंगे। बकाया माफ करेंगे तो मौजूदा टैक्स को हाफ यानी 50 फीसदी करेंगे। गांवों पर हाउस टैक्स का बोझ नहीं होगा। इस योजना से सभी वर्ग के लोग टैक्स में दायरे में होंगे। राजस्व बढ़ाने के लिए भी नई योजनाएं लागू की जाएंगी, लेकिन इसका सीधा बोझ दिल्लीवासियों पर डालने की बजाय आय बढ़ाने के लिए दूसरे स्रोतों को बढ़ाया जाएगा। 

चुनाव से कितनी उम्मीदें हैं? 
निगम चुनाव में कांग्रेस का समर्थन लगातार बढ़ रहा है। कोरोना काल में घरों में बैठने के बजाय कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रों में रहकर दिल्लीवासियों की बेहतरी के लिए काम किया। धर्म, जाति या संप्रदाय के नाम पर दिल्लीवासियों को बांटने की लगातार साजिश हुईं। दिल्लीवासी अब राजनीतिक दलों को समझ चुके हैं। अगला मेयर कांग्रेस का होगा।

दिल्ली को नई रफ्तार देने के लिए क्या करेंगे?
दिल्ली के विकास की रफ्तार काफी कम हो गई है। इसे नए सिरे से पटरी पर लाने की राह में कई चुनौतियां हैं। सबसे पहले भ्रष्टाचार पर शिकंजा कसना होगा। चुनाव के बाद सत्ता में आने पर दिल्ली की बुनियादी सुविधाएं बेहतर की जाएंगे। शिक्षा के क्षेत्र में भी निगम स्कूलों में कई कमियां हैं, जिन्हें दूर करने का भी कांग्रेस ने खाका खींच लिया गया है।

(आप के दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार से उनकी चुनावी रणनीति पर अमर उजाला संवाददाता राकेश शर्मा और सर्वेश कुमार से बातचीत पर आधारित)

विस्तार

दिल्ली नगर निगम चुनाव के बीच शुक्रवार दिनभर सियासी साजिशों पर आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच तल्खी दिखी। आप ने भाजपा पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हत्या कराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत दिल्ली राज्य चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को दी है, जबकि भाजपा ने आप नेता संदीप भारद्वाज की आत्महत्या को हत्या करार देते हुए इसे टिकट  की खरीद-फरोख्त का नतीजा बताया है। भाजपा ने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। 

आप ने मनोज तिवारी के खिलाफ राज्य चुनाव आयोग व पुलिस को दी शिकायत

भाजपा और सांसद मनोज तिवारी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हत्या कराने का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली राज्य चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को शिकायत दी है। आप की मांग है कि भाजपा सांसद को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जाए, ताकि पूरी साजिश का पता चल सके। 

इससे पहले शुक्रवार सुबह उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मीडिया के सामने एक बार फिर भाजपा पर हमलावर दिखे। सिसोदिया के मुताबिक, गुजरात और दिल्ली एमसीडी चुनावों में हार के डर से भाजपा इतना बौखला गई है कि अब वह केजरीवाल की हत्या की साजिश रच रही है। भाजपा के इस षड्यंत्र से साफ है कि उनका लोकतंत्र से भरोसा उठ गया है। साथ ही, चुनाव जीतने के लिए वह किसी भी स्तर पर जा सकते हैं, तभी भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने खुलेआम केजरीवाल को हत्या की धमकी दी है। सिसोदिया ने मांग की कि मनोज को गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई की जाए। पूछताछ से ही पूरे षडयंत्र का पता चलेगा।

  • सिसोदिया ने सवाल किया कि तिवारी को कैसे पता चला कि केजरीवाल पर हमला हो सकता है। इसका मतलब साफ है कि इन लोगों ने साजिश रच ली है।  
  • इसके बाद दोपहर करीब 12:30 बजे आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज की अगुवाई में पांच विधायकों का प्रतिनिधिमंडल राज्य चुनाव आयुक्त विजय देव से मिलने दफ्तर पहुंचा। 
  • आप प्रतिनिधियों ने आयुक्त को मनोज तिवारी के खिलाफ शिकायत दी। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने राज्य चुनाव आयुक्त को सिलसिलेवार ढंग से पूरे मामले की जानकारी दी। उनको बताया गया कि भाजपा के सांसद मीडिया में अरविंद केजरीवाल की हत्या की साजिश की बात कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पर पहले भी हमले हुए हैं। पूरी बात सुनने के बाद चुनाव आयुक्त ने मामले को संजीदा बताते हुए जांच का भरोसा दिलाया।

आत्महत्या नहीं, संदीप की हुई हत्या उच्चस्तरीय जांच हो : मनोज तिवारी

भाजपा ने आम आदमी पार्टी (आप) नेता संदीप भारद्वाज की आत्महत्या को हत्या करार दिया है। भाजपा का आरोप है कि आप ने पहले संदीप भारद्वाज को टिकट देने का प्रलोभन दिया, लेकिन मौका आने पर दरकिनार कर दिया। भाजपा की मांग है कि पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए। इसके बाद ही पूरे मामले का पता चलेगा। भाजपा ने एक बार फिर दोहराया है कि जिस तरह आप नेता आत्महत्या करने जैसा कदम उठा सकते हैं, उसमें मुख्यमंत्री की सुरक्षा में कोई ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए। आशंका इसकी भी है कि आप का कोई कार्यकर्ता ही उन पर हमला कर दे। शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि आप नेता संदीप भारद्वाज ने आत्महत्या नहीं की, बल्कि उनकी हत्या हुई है। अभी तक पूरे घटनाक्रम पर सामने आई जानकारियां इसी तरफ इशारा करती हैं। 

  • संदीप भारद्वाज को आप की ओर से निगम चुनाव के लिए टिकट देने का भरोसा दिया जा चुका था। वह आप के फाउंडर मेंबर में से एक थे, लेकिन बाद में टिकट नहीं दिया गया। 
  • आरोप लग रहा है कि जब टिकट देने की बात आई तो उस वार्ड से टिकट की खरीद-फरोख्त की गई। संदीप इसे सहन नहीं कर पाए और सदमे में उन्होंने आत्महत्या कर ली।
  • मनोज तिवारी के मुताबिक, आत्महत्या के लिए मजबूर करना भी हत्या के बराबर ही होता है। इसके जिम्मेदार खुद अरविंद केजरीवाल और आप का पूरा शीर्ष नेतृत्व है। 
  •  पहले भी इसी तरह के मामले में आप कार्यकर्ताओं द्वारा अपने विधायक को पीटते हुए वीडियो वायरल हुआ था। भाजपा सांसद ने मांग की कि पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। इसके बाद ही सही से पता चल सकेगा।

40 क्षेत्रों में मैजिक, गिटार, डांस शो आदि गतिविधियां कीं

एमसीडी चुनाव प्रचार के तहत आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारकों ने 150 से ज्यादा इलाकों में जनसंवाद, नुक्कड़ सभाएं और बज गतिविधियां आयोजित कीं। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय, राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता, आप नेता हरजोत बैंस, विधायक सौरभ भारद्वाज, दुर्गेश पाठक समेत कई नेताओं ने मतदाताओं को साधने का कार्य किया। वहीं, आप ने 40 क्षेत्रों में मैजिक, गिटार, डांस शो आदि बज गतिविधियां कर एमसीडी में केजरीवाल सरकार के आने पर एमसीडी का भविष्य उज्जवल होने का संदेश दिया। 

सिसोदिया ने मादीपुर, शकूरबस्ती और जनकपुरी के आठ वार्डों में सभाएं की। इस मौके पर उन्होंने जनता से अपील की कि इस बार एमसीडी में भाजपा की नाकामी और कुशासन का अंत करने के लिए आप को वोट दें। भाजपा ने 15 सालों से एमसीडी के शासन में रहते हुए जनता से वसूली करने, जनता को धोखा देने और दिल्ली को कूड़ाघर बनाने के अलावा और कुछ नहीं किया। भाजपा से 15 सालों में न तो दिल्ली का कूड़ा साफ हुआ और न ही ये कूड़े के पहाड़ों को साफ कर सके। इसके अलावा भाजपा दिल्ली में 16 कूड़े के नए पहाड़ बनाकर लोगों की जिंदगी नर्क बनाने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि जनता इस बार एमसीडी में लोगों की जेब साफ करने वाली भाजपा को नहीं, बल्कि दिल्ली को साफ सुथरा बनाने वाली आप की सरकार को चुनेगी।

पूर्व विधायक ने प्रचार के दौरान एसआई से की धक्कामुक्की

पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता आसिफ मोहम्मद खान एक फिर विवादों में हैं। वह चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली पुलिस के सब-इंस्पेक्टर (एसआई) अक्षय को धक्का देते हुए दिखाई दे रहे हैं। पूर्व विधायक का एसआई से धक्कामुक्की व जान से मारने की धमकी देते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में विधायक के समर्थक एसआई के साथ नोकझोंक करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

एसआई व सिपाही ने सूझबूझ का परिचय दिया और मौके से चले गए। वहीं, दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। वीडियो दो मिनट पांच सेकंड का है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि आसिफ हाथ में माइक लेकर एमसीडी चुनाव के लिए प्रचार कर रहे हैं। वहां पर एसआई व सिपाही खड़े दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान वह अपने भाषण के दौरान बिहार से आए लोगों के साथ मारपीट का मुद्दा उठाते हुए आपत्तिजनक बातें कहने लगे। इस पर उन्हें एसआई ने रोका तो वह भड़क गए। एसआई अक्षय ने शाहीन बाग थाना में पूर्व विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। 

आमने-सामने हैं आप के गोपाल राय और कांग्रेस के अनिल कुमार

गोपाल ने कहा- भाजपा झूठी, कांग्रेस की सियासी साख नहीं

प्रचार के आखिरी दौर में पहुंचने के साथ आप पर सियासी हमले तेज हैं। क्या रणनीति होगी इससे निकलने की? 


भाजपा समझ चुकी है कि निगम में आप की सरकार बन रही है। वह इस सच को पचा नहीं पा रहे हैं, तभी लोगों को गुमराह करने के लिए नए-नए झूठ परोस रहे हैं। दिल्लीवालों को भाजपा के वीडियो से कोई लेना देना नहीं, वह केवल अपना काम देखते हैं। जनता जानती है कि उनके काम कौन करवा सकता है। मंत्री सत्येंद्र जैन के वीडियो से आप को चुनाव में कोई नुकसान नहीं होगा। 

आप के संदीप भारद्वाज की आत्महत्या की जांच की मांग भाजपा कर रही है? 

भाजपा के पास चुनाव में कोई मुद्दा नहीं बचा है। पिछले 15 साल के कार्यकाल में वह एक उपलब्धि नहीं बता पा रहे हैं तो अब मौत पर भी राजनीति शुरू कर दी। भाजपा चुनाव को लेकर पुरी तरह से हताश हो चुकी है। उनके नेता मुख्यमंत्री को मारने की धमकी दे रहे हैं। आप के टिकट के लिए ढाई हजार आवेदन आए थे, ऐसे में सभी को टिकट देना संभव नहीं था, यह कार्यकर्ता भी जानते हैं। वें कुछ दिन नाराज जरूर हुए होंगे, लेकिन अब मिलकर प्रचार कर रहे हैं। 

चुनाव में एक हफ्ता बचा है, समझा लेंगे लोगों को? 

हां, आप अपने मुद्दों के साथ जनता के बीच जा रही है। भाजपा के झूठ से न आप को मतलब है, न ही जनता को। हम चौराहे पर संवाद, डोर टू डोर कैंपेन, बूथ संवाद, नुक्कड़ नाटक और डांस ऑफ डेमोक्रेसी के माध्यम से अपनी बात लोगों तक पहुंचा रहे हैं। दिल्ली सरकार के कामों को देखकर लोग समझ भी रहे हैं कि निगम में ही आप की सरकार होनी चाहिए। अगले सप्ताह मुख्यमंत्री भी चुनावी अभियान में शामिल होंगे। 

आप ने पिछले निगम चुनाव में जो वादे किए थे, इस बार कांग्रेस के घोषणा पत्र  में वें शामिल हैं। क्या इससे पार्टी को नुकसान नहीं होगा?

दिल्ली की जनता भाजपा को हराने के लिए वोट करेगी। वह जानती है कि भाजपा को केवल आप ही हरा सकती है। ऐसे में कांग्रेस का कोई सवाल ही नहीं उठता। इस बार चुनाव में आमने-सामने की लड़ाई है। इसमें कांग्रेस कही टिक भी नहीं पाएगी। कांग्रेस के कोई भी वादे आप के लिए मुश्किल खड़ा नहीं कर सकते। आप अपने सकारात्मक प्रचार पर पूरी तरह से फोकस है।

 

आप का दावा है कि एक तारीख को कर्मचारियों को वेतन दे देंगे, फंड के अभाव में यह कैसे संभव होगा? 

आप सरकार जब सत्ता में आई थी तो दिल्ली का बजट 30 हजार करोड़ का था। आज 65 हजार करोड़ का है। यदि नियत साफ हो फंड की भी व्यवस्था हो जाती है। पार्टी भ्रष्टाचार को खत्म कर फंड की व्यवस्था करेगी। निगम में सही से प्रबंधन कर निगम की आर्थिक समस्या को पूरी तरह से दूर कर देंगे। 

बोले  अनिल कुमार- आप व भाजपा को दिल्ली वाले समझ गए

एमसीडी चुनाव में दिल्ली में बदलाव की क्या है तैयारी? 


कांग्रेस ने एमसीडी यानी मेरी चमकती दिल्ली बनाने का नारा दिया है। स्वच्छता के साथ-साथ दिल्ली वासियों को पीने का स्वच्छ पानी मुहैया करवाएंगे। दिल्ली को प्रदूषण और भ्रष्टाचार मुक्त बनाएंगे। कोरोना काल में कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर रहे और दिल्लीवासियों की परेशानियों को दूर करने के भरसक प्रयास भी किए। 4 दिसंबर को जनता की अदालत में इसका फैसला होगा। 

एमसीडी चुनाव में पार्टी की क्या प्राथमिकताएं हैं? 

दिल्ली को भ्रष्टाचार और प्रदूषण मुक्त बनाएंगे। 15 वर्षों में भाजपा और आठ वर्षों के दौरान आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को बदहाल कर दिया। गंदे पानी की समस्या को दूर करने के लिए लोगों को वाटर प्यूरीफायर (आरओ) दिए जाएंगे। हाउस टैक्स में राहत देेकर सभी वर्गों को इसमें शामिल करने का हमने खाका खींच लिया गया है। सत्ता मिलने पर इसे लागू कर शीला दीक्षित के शासनकाल की तर्ज पर बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। 

निगम पर कर्ज है, अगर कांग्रेस को मौका मिला तो कैसे वित्तीय स्थिति सुधारेंगे? 

मौका मिलने पर सबसे पहले दिल्लीवासियों को हाउस टैक्स में राहत देंगे। बकाया माफ करेंगे तो मौजूदा टैक्स को हाफ यानी 50 फीसदी करेंगे। गांवों पर हाउस टैक्स का बोझ नहीं होगा। इस योजना से सभी वर्ग के लोग टैक्स में दायरे में होंगे। राजस्व बढ़ाने के लिए भी नई योजनाएं लागू की जाएंगी, लेकिन इसका सीधा बोझ दिल्लीवासियों पर डालने की बजाय आय बढ़ाने के लिए दूसरे स्रोतों को बढ़ाया जाएगा। 

चुनाव से कितनी उम्मीदें हैं? 

निगम चुनाव में कांग्रेस का समर्थन लगातार बढ़ रहा है। कोरोना काल में घरों में बैठने के बजाय कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रों में रहकर दिल्लीवासियों की बेहतरी के लिए काम किया। धर्म, जाति या संप्रदाय के नाम पर दिल्लीवासियों को बांटने की लगातार साजिश हुईं। दिल्लीवासी अब राजनीतिक दलों को समझ चुके हैं। अगला मेयर कांग्रेस का होगा।

दिल्ली को नई रफ्तार देने के लिए क्या करेंगे?

दिल्ली के विकास की रफ्तार काफी कम हो गई है। इसे नए सिरे से पटरी पर लाने की राह में कई चुनौतियां हैं। सबसे पहले भ्रष्टाचार पर शिकंजा कसना होगा। चुनाव के बाद सत्ता में आने पर दिल्ली की बुनियादी सुविधाएं बेहतर की जाएंगे। शिक्षा के क्षेत्र में भी निगम स्कूलों में कई कमियां हैं, जिन्हें दूर करने का भी कांग्रेस ने खाका खींच लिया गया है।

(आप के दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार से उनकी चुनावी रणनीति पर अमर उजाला संवाददाता राकेश शर्मा और सर्वेश कुमार से बातचीत पर आधारित)

Leave a Comment